UP Mission Shakti 2022: यूपी मिशन शक्ति 3.0: मिशन शक्ति यूपी लाभ | विशेषताएं और कार्यान्वयन प्रक्रिया

यूपी मिशन शक्ति | मिशन शक्ति यूपी लाभ | UP Mission Shakti | UP Mission Shakti abhiyan | मिशन शक्ति प्रथम चरण | मिशन शक्ति उत्तर प्रदेश | मिशन शक्ति क्या है | up mission shakti abhiyan launch date

Introduction of UP Mission Shakti

जैसा कि आप सभी जानते हैं कि आज भी हमारे समाज में महिलाओं के बारे में नकारात्मक सवाल किए जाते हैं। इस सोच को बदलने के लिए सरकार की मदद से तरह-तरह के मान्यता अभियान चलाए जाते हैं। इसके अलावा विभिन्न प्रकार की योजनाएं भी संचालित की जाती हैं।

आज हम आपको उत्तर प्रदेश सरकार के सहयोग से शुरू की गई एक ऐसी ही योजना से जुड़े तथ्य बताने जा रहे हैं, जिसका नाम है UP Mission Shakti तीन। इस योजना के माध्यम से सरकार के माध्यम से महिला सशक्तिकरण किया जाएगा।

इस लेख को पढ़कर आपको इस योजना से जुड़ी पूरी जानकारी मिल जाएगी। जैसे कि इसका उद्देश्य, लाभ, सुविधाएँ, पात्रता, आवश्यक दस्तावेज, आवेदन विधि आदि। तो दोस्तों, यदि आप UP Mission Shakti 3.0 से जुड़ी पूरी जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं, तो आपसे अनुरोध है कि हमारे इस लेख को अंत तक देखें।

UP Mission Shakti

UP Mission Shakti 3.0

वर्ष 2020 में उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा UP Mission Shakti अभियान की शुरुआत की गई थी। राज्य की महिलाओं और बेटियों को संदिग्ध और सुरक्षित बनाने के लिए यह योजना शुरू की गई है। इस योजना के माध्यम से कई प्रकार के संज्ञान और प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं ताकि महिलाओं को उनके अधिकारों से संबंधित तथ्य उपलब्ध कराए जा सकें।

यह योजना उत्तर प्रदेश के 75 जिलों में शुरू की गई थी। इस योजना के पहले खंड को लॉन्च करते समय इस प्रारूप को एक बार दो भागों में विभाजित किया गया था। जो था UP Mission Shakti और ऑपरेशन शक्ति।

मिशन शक्ति अभियान का फोकस महिलाओं को उनके अधिकारों के बारे में जागरूक करने पर होता था और ऑपरेशन शक्ति का केंद्र बिंदु उन लोगों को सजा दिलाने पर था जिन्होंने महिलाओं के खिलाफ कोई दुर्व्यवहार या अपराध किया है। अब सरकार के सहयोग से इस योजना का 0.33 खंड शुरू किया जा रहा है।

जिसका उद्घाटन 21 अगस्त 2021 को इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान, लखनऊ में किया जाएगा। इस अवसर पर इस UP Mission Shakti के प्रथम एवं द्वितीय खण्ड में उत्कृष्ट कार्य करने वाली सैंतालीस जिलों की 75 महिला अधिकारियों एवं कर्मचारियों को भी पुरस्कार प्रदान किये जायेंगे। इस कार्यक्रम में राज्य की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण मौजूद रहेंगी।

UP Mission Shakti अभियान चलाया जाएगा और ऊर्जावान और प्रभावी

  • महिलाओं को सशक्त और आत्मनिर्भर बनाने के उद्देश्य से
  • उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा UP Mission Shakti अभियान की शुरुआत की जाती थी।
  • उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने UP Mission Shakti अभियान को
  • 2 अप्रैल, 2022 से महिला सुरक्षा से जुड़ी आदतों की गतिविधियों को अधिक सक्रिय और
  • कुशलता से करने के निर्देश दिए हैं।
  • इस अभियान के तहत मुख्यमंत्री के माध्यम से स्कूलों, कॉलेजों में विशेष अभियान चलाने के निर्देश दिए गए हैं।
  • बाजार और भीड़भाड़ वाली जगह।
  • इसके अलावा मुख्यमंत्री के माध्यम से गृह विभाग की ओर
  • से 100 दिवसीय कार्य योजना के तहत प्राथमिकता तय कर त्वरित कार्रवाई करने के भी निर्देश दिए हैं।
  • एक सौ दिन। सौ दिन की कार्ययोजना के संबंध में एक अप्रैल, 2022 को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के
  • माध्यम से गृह विभाग की उच्च स्तरीय समीक्षा बैठक भी शासकीय आवास पर आयोजित की गई थी।

75000 लड़कियों को उद्यमिता से जोड़ा जाएगा

महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से एक नया अभियान शुरू किया गया है। अब महिलाओं में उद्यमिता को बढ़ावा देने के लिए मिशन शक्ति अभियान के तहत पचहत्तर जिलों की 75000 लड़कियों को उद्यमिता से जोड़ने के लिए विशिष्ट शिक्षा कार्यक्रम तैयार किए जाएंगे।

इसकी आपूर्ति कोचिंग कैंप के जरिए की जाएगी। इन शिविरों के माध्यम से महिलाओं को भी आत्मनिर्भर बनाया जा सकता है। सभी प्रशिक्षुओं को टूलकिट भी उपलब्ध कराई जाएगी। प्रशिक्षण पूरा होने के बाद बैंकों से व्यवसाय स्थापित करने के लिए आसान किस्त ऋण भी दिया जाएगा। जिससे कन्याओं की धन संबंधी इच्छाएं पूरी की जा सकें।

इसके अलावा महिला उद्यमियों के लिए असिस्ट डेस्क, मोबाइल एप और इंटरनेट साइट भी शुरू की जाएगी। इस अवसर पर एक जिला एक उत्पाद योजना के चिन्हित उत्पादकों पर आधारित डाक टिकट और एक तरह के अनूठे कवर भी लॉन्च किए जाएंगे। महिलाओं और महिलाओं को जागरूक करने के उद्देश्य से मिशन शक्ति अभियान की शुरुआत की जाती थी। इसके अलावा, इस योजना का एक मौलिक लक्ष्य महिलाओं के प्रति हिंसा करने वाले मनुष्यों की पहचान को उजागर करना और राज्य में लड़कियों को सुरक्षित महसूस कराना है।

Key Highlights Of UP Mission Shakti 3.0

योजना का नाममिशन शक्ति अभियान 3.0
किसने आरंभ कीउत्तर प्रदेश सरकार
लाभार्थीउत्तर प्रदेश की महिलाएं
उद्देश्यमहिलाओं को सशक्त एवं आत्मनिर्भर बनाना
आधिकारिक वेबसाइटयहां क्लिक करें
साल2022
राज्यउत्तर प्रदेश

विशेष काउल और डाक टिकट की आपूर्ति मुख्य रूप से के आधार पर की जाएगी

मुख्यमंत्री ने मिशन शक्ति अभियान का उद्घाटन करते हुए कहा कि जिस तरह से पूरे देश में ओडीओपी योजना का समर्थन किया जा रहा है, उसी तरह मिशन शक्ति अभियान को भी लागू किया जाएगा.क्षीण। इस UP Mission Shakti के तहत हर थाने में महिला हेल्प डेस्क भी बनाई गई है। गांव में महिला शक्ति बूथ भी स्थापित किए गए हैं।

इसके अलावा इस अभियान के तीसरे चरण में 20000 से अधिक महिला आरक्षकों को भी बीट पुलिस की जिम्मेदारी सौंपी गई है. ये सभी पुलिसकर्मी गांव में महिलाओं की सुरक्षा और सम्मान सुनिश्चित करने की कोशिश कर रहे हैं. इसके अलावा वह महिलाओं को सरकार की योजनाओं से जोड़कर उन्हें आत्मनिर्भर बनाने की राह भी दिखा रही हैं।

UP Mission Shakti

इस UP Mission Shakti के माध्यम से उत्तर प्रदेश की महिलाएं सुरक्षित, सफल और स्वावलंबी बन रही हैं। एक जिला एक उत्पाद योजना के अंतर्गत आने वाले सभी पचहत्तर जिलों के उत्पादों पर आधारित विशेष काउल और डाक टिकटों का भी अनावरण किया जा रहा है। UP Mission Shakti अभियान के तहत इसका अनावरण किया जा रहा है।

महिलाओं को उनके अधिकारों के प्रति किया जाएगा जागरूक

राज्य की महिलाओं को जागरूक और सशक्त बनाने और सरकार के माध्यम से शुरू की गई कई कल्याणकारी योजनाओं के साथ उन्हें जोड़ने के लिए UP Mission Shakti अभियान शुरू किया गया है।

अब महिलाएं इस योजना के माध्यम से आत्मनिर्भरता की दिशा में तेजी से आगे बढ़ रही हैं। इस योजना के माध्यम से महिलाएं अपने अधिकारों के प्रति जागरूक हो रही हैं। UP Mission Shakti अभियान के तहत महिला कल्याण विभाग द्वारा विभिन्न प्रकार के पैकेज का आयोजन किया जाता है।

जिससे देश की लड़कियों को जागरूक किया जाता है। सितंबर 2021 में इस योजना के माध्यम से देश की महिलाओं को उनके कानूनी अधिकारों से संबंधित ध्यान दिया जाएगा। 21 सितंबर 2021 तक लड़कियों को हिंसा के खिलाफ कानून और प्रावधानों से संबंधित जानकारी दी जाएगी। ग्राम सभा स्तर पर भी जागरूकता अभियान चलाया जाएगा। ताकि देश की लड़कियां अपने अधिकारों के प्रति जागरूक हो सकें।

देश की महिलाएं महिला कल्याण योजनाओं के तहत आवेदन कर सकेंगी

मिशन शक्ति अभियान के तहत एक टीम भी बनाई जाएगी, जो हर ग्राम सभा के विशेष प्रखंडों में जाकर महिलाओं को जागरूक करने का काम करेगी. इस योजना के तहत सरकार की ओर से आत्मनिर्भरता शिविर भी चलाए जा रहे हैं। इन शिविरों के माध्यम से प्रदेश की महिलाओं का कई योजनाओं के तहत पंजीयन किया जा रहा है।

इसके अलावा विभिन्न प्रकार की योजनाओं से संबंधित अभिलेख उपलब्ध कराए जा रहे हैं। इन योजनाओं में निराश्रित महिला पेंशन योजना, मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना, मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना आदि योजनाएं शामिल हैं। कन्या सुमंगला योजना के तहत इन शिविरों के माध्यम से 6314 आवेदन प्राप्त हुए हैं, जिनमें से 4489 आवेदन स्वीकार किए गए हैं। इसके अलावा निराश्रित महिला पेंशन योजना के तहत 2002 के आवेदन प्राप्त हुए हैं, जिनमें से 1264 आवेदनों को स्वीकार कर लिया गया है।

Read also – राजस्थान वृद्धावस्था पेंशन योजना 2022

मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के तहत 399 आवेदन प्राप्त हुए हैं, जिनमें से 187 उद्देश्यों को स्वीकार कर लिया गया है। इसके अलावा मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के तहत 169 मानक आवेदन भी प्राप्त हुए हैं। स्वावलंबन शिविर 9 सितंबर 2021 को सुसज्जित किया जाएगा।
इन शिविरों में सत्यापन अधिकारी एवं अनुमोदन अधिकारी मौजूद रहेंगे। ताकि 1 दिन के अंदर अप्रूवल का काम पूरा किया जा सके। इसके अलावा प्रदेश में ग्राम सभा डिग्री पर भी मेगा आवेदन तैयार किया जाएगा।
राज्य की महिलाओं में जागरूकता फैलाने के लिए विभिन्न प्रकार के प्रदर्शन भी आयोजित किए जाएंगे। इन नाटकों के माध्यम से विभिन्न प्रकार की महिला कल्याण योजनाओं का प्रचार-प्रसार भी किया जाएगा।

मिशन शक्ति अभियान 3.0 . में प्रदान किए गए कुछ मूलभूत 2022 लाभ

  • UP Mission Shakti 3 के आवेदन के दौरान
  • मुख्यमंत्री निरीक्षक महिला पेंशन योजना की 29.68 लाख महिलाओं के खाते में 451 करोड़ रुपये की राशि ट्रांसफर की जाएगी.
  • इससे 1.73 लाख से अधिक नए लाभार्थी भी इस योजना से जुड़ जाएंगे।
  • इस आवेदन में मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला की 1.55 लाख बेटियों के बिल में 30.12 करोड़ रुपये ट्रांसफर किए जाएंगे |
  • इसके अलावा 59 ग्राम पंचायत भवनों में भी मिशन शक्ति सेल शुरू किया जाएगा।
  • 0.33 चरण में लड़कियों को रोजगार की मुख्यधारा से जोड़ा जाएगा।
  • इस कार्यक्रम में महिला बीट पुलिस अधिकारियों को भी तैनात किया जाएगा।
  • इसके अलावा 1286 थानों में 84.79 करोड़ रुपये की लागत से गुलाबी शौचालय भी बनाए जाएंगे।
  • महिला बटालियन के 2982 पदों पर भी विशेष भर्ती की जाएगी।
  • इसके अलावा इस कार्यक्रम में सभी पुलिस ट्रेस में किंडरगार्टन क्रोकेट भी लगाया जाएगा।

75 महिलाओं को किया जाएगा सम्मानित (UP Mission Shakti)

  • इस अभियान के 0.33 चरण में बालिनी दुग्ध उत्पादक कंपनी की तर्ज पर नई कंपनियां भी स्थापित की जाएंगी।
  • इन समूहों का गठन रायबरेली, सुल्तानपुर, अमेठी, सोनभद्र, चंदौली, मिर्जापुर, बलिया, गाजीपुर, गोरखपुर,
  • देवरिया, महाराजगंज, कुशीनगर, बरेली, पीलीभीत, लखीमपुर खीरी और रामपुर जिलों में किया जाएगा |
  • इस अभियान के तहत दिसंबर 2021 तक एक लाख नए
  • स्वयं सहायता संगठनों को आकार देने का भी लक्ष्य रखा गया है।
  • देश के 75 जिलों में विभिन्न पैकेज आयोजित किए जाएंगे।
UP Mission Shakti

जिसकी गेस्ट ऑफ ऑनर महिलाएं होंगी। करॉना काल में उत्कृष्ट कार्य करने वाली पचहत्तर महिलाओं को सम्मानित किया जाएगा, जो चिकित्सा, फिटनेस कार्यकर्ता, महिला स्वयं सहायता समूहों, महिला स्वैच्छिक निगमों आदि के क्षेत्र से हैं। इस अभियान के 0.33 खंड के तहत, पुलिस प्रसाद होगा महिलाओं की दहलीज तक पहुंचें। इसके अलावा थाने में महिला हेल्प डेस्क की स्थापना की जाएगी, जिसके माध्यम से अविवाहित माओ की मदद की जाएगी।

UP Mission Shakti अभियान 2022 का उद्देश्य 3.0

इस अभियान का मुख्य उद्देश्य देश की महिलाओं को मजबूत और आत्मनिर्भर बनाना है। इस अभियान के माध्यम से विभिन्न प्रकार के संज्ञान और कोचिंग पैकेज संचालित किए जाते हैं। ताकि प्रदेश की महिलाओं को उनके अधिकारों के प्रति जागरूक किया जा सके। यह अभियान राज्य के पचहत्तर जिलों में शुरू किया गया था।

इस योजना के संचालन की अवधि 6 माह निर्धारित की गई थी। जिसके तहत इस योजना को दो चरणों में बांटा गया है जो UP Mission Shakti 3 और ऑपरेशन शक्ति हैं। UP Mission Shakti अभियान का महत्वपूर्ण लक्ष्य देश की महिलाओं को बनाना है। एस । अपने अधिकारों के प्रति जागरूक और ऑपरेशन शक्ति के तहत महिलाओं के साथ किसी भी तरह का दुर्व्यवहार या अपराध करने वालों को दंडित करने का प्रावधान है। अब इस योजना का तीसरा चरण शुरू किया गया है।

Check it – उत्तर प्रदेश बेरोजगारी भत्ता 2022

यूपी मिशन शक्ति 3 लाभ और विशेषताएं

  • UP Mission Shakti अभियान वर्ष 2020 में उत्तर प्रदेश सरकार की मदद से शुरू किया गया था।
  • यह योजना कभी देश की महिलाओं और बेटियों को आत्मनिर्भर और सुरक्षित बनाने के लिए शुरू की गई थी।
  • इस योजना के माध्यम से कई प्रकार के संज्ञान और कोचिंग आवेदन आयोजित किए जाते हैं |
  • ताकि महिला को आत्मनिर्भर और सुरक्षित रखा जा सके।
  • यह योजना राज्य के सभी पचहत्तर जिलों में शुरू की गई थी।
  • अब इस योजना के 0.33 खंड को उत्तर प्रदेश सरकार की सहायता से शुरू किया जा रहा है।
  • UP Mission Shakti 3 के 1/3 खंड का शुभारंभ इक्कीस अगस्त 2021 को इंदिरा गांधी प्रतिष्ठान, लखनऊ में किया जाएगा।
  • इस मौके पर 47 जिलों की 75 महिला अधिकारियों और कर्मियों को भी पुरस्कार दिए जाएंगे |
  • जिन्होंने इस योजना के पहले और दूसरे खंड में उत्कृष्ट कार्य किया है.
  • इस कार्यक्रम में राज्य की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण भी मौजूद रहेंगी।
  • मिशन शक्ति अभियान 3 के आवेदन के दौरान मुख्यमंत्री निरीक्षक पेंशन योजना की
  • 29.68 लाख महिलाओं के खाते में ₹451 की राशि अंतरित की जाएगी।
  • 1.73 लाख से अधिक नए लाभार्थी भी इस योजना से जुड़ेंगे।
  • मुख्यमंत्री सुमंगला योजना की 1.55 लाख बेटियों के कर्ज में इस सॉफ्टवेयर से
  • किसी समय 30.12 करोड़ रुपये ट्रांसफर किए जाएंगे।
  • राज्य के उनतालीस ग्राम पंचायत भवनों में भी मिशन शक्ति प्रकोष्ठ शुरू किया जाएगा।
  • इस योजना के 1/3 चरण के माध्यम से रोजगार को मुख्य धारा से जोड़ा जाएगा।
  • इस कार्यक्रम में महिला बीट पुलिस अधिकारियों को भी तैनात किया जाएगा।
  • 1286 थाना क्षेत्रों में 84.79 करोड़ रुपये की लागत से गुलाबी शौचालय भी बनाए जाएंगे।

UP Mission Shakti 3.0 . की पात्रता और महत्वपूर्ण दस्तावेज

  • आवेदक उत्तर प्रदेश का स्थायी निवासी होना चाहिए।
  • आवेदक महिला होनी चाहिए।
  • आधार कार्ड
  • पते का सबूत
  • आय का प्रमाण पत्र
  • आयु प्रमाण पत्र
  • राशन पत्रिका
  • बैंक खाता विवरण
  • पासपोर्ट आयाम फोटो
  • मोबाइल नंबर

UP Mission Shakti 3 आवेदन प्रक्रिया

यदि आप UP Mission Shakti 3 के तहत निरीक्षण करना चुनते हैं तो आपको अभी कुछ समय इंतजार करना होगा। अभी तक इस योजना की घोषणा सरकार के माध्यम से ही की गई है। जल्द ही सरकार के माध्यम से इस योजना के तहत आवेदन करने की प्रक्रिया से संबंधित जानकारी दी जाएगी। जैसे ही सरकार के माध्यम से उपयोगिता से जुड़े कोई आंकड़े उपलब्ध कराए जाएंगे, हम आपको इस लेख के माध्यम से ईमानदारी से सूचित करेंगे। अतः आपसे अनुरोध है कि हमारे इस लेख से जुड़े रहें।

Read more info : राजस्थान बेरोजगारी भत्ता 2022

Official Website

Leave a Comment